World Cup: इनके कप्तानी में भारत ने जीता था 1983 में पहला वर्ल्ड कप।

World Cup:- 1983 का क्रिकेट वर्ल्ड कप भारत में आयोजित किया गया था और यह टूर्नामेंट 9 जून से 25 जून तक खेला गया था। इस वर्ल्ड कप का आयोजन भारत, पाकिस्तान, इंग्लैंड, न्यूजीलैंड, वेस्ट इंडीज, ऑस्ट्रेलिया, श्रीलंका, जिम्बाब्वे समूह में था।

1983 के क्रिकेट वर्ल्ड कप में, भारतीय टीम ने पहले स्टेज में कई मुश्किलों का सामना किया। भारत का पहला मैच 9 जून, 1983 को इंग्लैंड के खिलाफ खेला गया था और उस मैच में भारत को 118 रनों का लक्ष्य पूरा करना था। भारत ने इस मैच में सिर्फ 17.4 ओवर्स में ही इंग्लैंड की टीम को 17 रनों पर हरा दिया।

यह जीत भारत की टीम की मोराल को बढ़ाई और उसके बाद की यात्रा में भी उत्साह बनाए रखी। उसके बाद की मैचों में, भारत ने ऑस्ट्रेलिया, जिम्बाब्वे, वेस्ट इंडीज और इंग्लैंड को हराया।

फ़ाइनल मैच में, भारत ने वेस्ट इंडीज की टीम को 183 रनों के लक्ष्य का सामना किया। वेस्ट इंडीज की टीम के खिलाफ, कप्तान कपिल देव की नेतृत्व में भारत ने 43 रनों से जीत हासिल की और उसने इतिहास रचा जब भारत ने पहली बार क्रिकेट वर्ल्ड (World Cup) कप जीता।

World Cup
-Advertisement-

2011 में इंडिया ने दूसरी बार जीता World Cup

2011 का क्रिकेट वर्ल्ड कप भारत, बांग्लादेश, और स्रीलंका में संयोजित किया गया था और यह वर्ल्ड कप का दसवां संस्करण था। इस टूर्नामेंट का आयोजन 19 फरवरी से 2 अप्रैल 2011 तक हुआ था। इस वर्ल्ड कप का प्रारंभिक चरण भारत, स्रीलंका, बांग्लादेश, पाकिस्तान, इंग्लैंड, ऑस्ट्रेलिया, वेस्ट इंडीज, दक्षिण अफ्रीका, न्यूजीलैंड, और जिम्बाब्वे के बीच हुआ था।

 India Playing 11 in  World Cup 2011

Sachin Tendulkar
Virendra Sehwag
Gautam Gambhir
Virat Kohli
M. S. Dhoni
Yuvraj Singh
Suresh Raina
Harbhajan Singh
Zaheer Khan
Munnaf Patel
Sreesanth

2011 के क्रिकेट वर्ल्ड कप (World Cup) के मुख्य विशेषताएँ हैं:

Read also  Asia Cup 2023: Predicting the Powerhouse Performers of the Tournament

विजेता टीम: भारत ने 2011 के वर्ल्ड कप को जीता।

  • फ़ाइनल: फ़ाइनल मैच 2 अप्रैल 2011 को मुंबई के वांखेडे स्टेडियम में खेला गया था, जिसमें भारत और श्रीलंका के बीच मुकाबला हुआ था। भारत ने इस मैच में श्रीलंका को 6 विकेट से हराया और वर्ल्ड कप का तितली जीता।
  • युवा प्रतिभा: इस वर्ल्ड कप में भारतीय क्रिकेट को दो युवा प्रतिभाएँ बेहद महत्वपूर्ण भूमिका निभाईं – गौतम गंभीर और धोनी, जिन्होंने महत्वपूर्ण इनिंग्स खेले।
  • अन्य महत्वपूर्ण खिलाड़ी: इस वर्ल्ड कप में सचिन तेंदुलकर, वीरेंद्र सहवाग, युवराज सिंह, हरभजन सिंह, और जैसे महत्वपूर्ण भारतीय खिलाड़ी अच्छे प्रदर्शन किए और टीम को जीत में मदद की।
  • धरमसाला: 2011 के वर्ल्ड कप में धरमसाला, हिमाचल प्रदेश में भी कुछ मैच आयोजित हुए थे। यह पहली बार था जब धरमसाला में वर्ल्ड कप के मैच आयोजित हुए।

2011 के क्रिकेट वर्ल्ड कप (World Cup) की जीत ने भारतीय क्रिकेट इतिहास में एक महत्वपूर्ण स्थान प्राप्त किया और यह यादगार और महत्वपूर्ण टूर्नामेंट था।

किस देश ने कितनी बार World Cup जीते |

ऑस्ट्रेलिया: 5 बार (1987, 1999, 2003, 2007, 2015)
वेस्ट इंडीज: 2 बार (1975, 1979)
इंग्लैंड: 1 बार (2019)
इंडिया: 2 बार (1983, 2011)
पाकिस्तान: 1 बार (1992)
श्रीलंका: 1 बार (1996)
  • कपिल देव ने भारत के लिए कितने कप जिते।

    कपिल देव ने भारत के लिए क्रिकेट में कई कप जीते हैं। वे भारतीय क्रिकेट टीम के कप्तान के रूप में कई टूर्नामेंट जीते हैं, जैसे कि 1983 का ICC क्रिकेट विश्व कप जो कि भारत की पहली विश्व कप जीत थी। उन्होंने भी 1985 में वीज़ ट्रॉफी और 1984 और 1985 में कप जीते।

    कपिल देव ने अपने क्रिकेट करियर के दौरान भारत के लिए कई महत्वपूर्ण क्रिकेट टूर्नामेंट जीते हैं और वे भारतीय क्रिकेट के एक महत्वपूर्ण खिलाड़ी रहे हैं।

    क्रिकेट में भारत के किस कप्तान को सफल माना गया है।

    भारतीय क्रिकेट में कई सफल कप्तान रहे हैं, लेकिन सबसे अधिक प्रसिद्ध और सफल कप्तान माने जाने वाले कप्तानों में से एक हैं महेंद्र सिंह धोनी। धोनी ने भारतीय क्रिकेट टीम को कई महत्वपूर्ण जीत दिलाई है, जिसमें सबसे महत्वपूर्ण है 2007 में जीते गए ICC वर्ल्ड ट्वेंटी20 (T20) क्रिकेट विश्व कप और 2011 में जीते गए ICC क्रिकेट विश्व कप।

    इसके अलावा, धोनी ने भारत को 2008 में एशिया कप और 2010 में महत्वपूर्ण टूर्नामेंट्स में भी जीत दिलाई। उन्होंने भी भारत को 2009 में ICC चैम्पियंस ट्रॉफी में जीताया था। धोनी का कैरियर उनकी नेतृत्व के दौरान बहुत ही सफल रहा और उन्हें भारतीय क्रिकेट के एक महत्वपूर्ण कप्तान के रूप में जाना जाता है।

  • कपिल देव ने भारत के लिए कितने कप जिते।

    कपिल देव ने भारत के लिए क्रिकेट में कई कप जीते हैं। वे भारतीय क्रिकेट टीम के कप्तान के रूप में कई टूर्नामेंट जीते हैं, जैसे कि 1983 का ICC क्रिकेट विश्व कप जो कि भारत की पहली विश्व कप जीत थी। उन्होंने भी 1985 में वीज़ ट्रॉफी और 1984 और 1985 में कप जीते।

    कपिल देव ने अपने क्रिकेट करियर के दौरान भारत के लिए कई महत्वपूर्ण क्रिकेट टूर्नामेंट जीते हैं और वे भारतीय क्रिकेट के एक महत्वपूर्ण खिलाड़ी रहे हैं।

    क्रिकेट में भारत के किस कप्तान को सफल माना गया है।

    भारतीय क्रिकेट में कई सफल कप्तान रहे हैं, लेकिन सबसे अधिक प्रसिद्ध और सफल कप्तान माने जाने वाले कप्तानों में से एक हैं महेंद्र सिंह धोनी। धोनी ने भारतीय क्रिकेट टीम को कई महत्वपूर्ण जीत दिलाई है, जिसमें सबसे महत्वपूर्ण है 2007 में जीते गए ICC वर्ल्ड ट्वेंटी20 (T20) क्रिकेट विश्व कप और 2011 में जीते गए ICC क्रिकेट विश्व कप।

    इसके अलावा, धोनी ने भारत को 2008 में एशिया कप और 2010 में महत्वपूर्ण टूर्नामेंट्स में भी जीत दिलाई। उन्होंने भी भारत को 2009 में ICC चैम्पियंस ट्रॉफी में जीताया था। धोनी का कैरियर उनकी नेतृत्व के दौरान बहुत ही सफल रहा और उन्हें भारतीय क्रिकेट के एक महत्वपूर्ण कप्तान के रूप में जाना जाता है।

  • कपिल देव ने भारत के लिए कितने कप जिते।

    कपिल देव ने भारत के लिए क्रिकेट में कई कप जीते हैं। वे भारतीय क्रिकेट टीम के कप्तान के रूप में कई टूर्नामेंट जीते हैं, जैसे कि 1983 का ICC क्रिकेट विश्व कप जो कि भारत की पहली विश्व कप जीत थी। उन्होंने भी 1985 में वीज़ ट्रॉफी और 1984 और 1985 में कप जीते।

    कपिल देव ने अपने क्रिकेट करियर के दौरान भारत के लिए कई महत्वपूर्ण क्रिकेट टूर्नामेंट जीते हैं और वे भारतीय क्रिकेट के एक महत्वपूर्ण खिलाड़ी रहे हैं।

    क्रिकेट में भारत के किस कप्तान को सफल माना गया है।

    भारतीय क्रिकेट में कई सफल कप्तान रहे हैं, लेकिन सबसे अधिक प्रसिद्ध और सफल कप्तान माने जाने वाले कप्तानों में से एक हैं महेंद्र सिंह धोनी। धोनी ने भारतीय क्रिकेट टीम को कई महत्वपूर्ण जीत दिलाई है, जिसमें सबसे महत्वपूर्ण है 2007 में जीते गए ICC वर्ल्ड ट्वेंटी20 (T20) क्रिकेट विश्व कप और 2011 में जीते गए ICC क्रिकेट विश्व कप।

    इसके अलावा, धोनी ने भारत को 2008 में एशिया कप और 2010 में महत्वपूर्ण टूर्नामेंट्स में भी जीत दिलाई। उन्होंने भी भारत को 2009 में ICC चैम्पियंस ट्रॉफी में जीताया था। धोनी का कैरियर उनकी नेतृत्व के दौरान बहुत ही सफल रहा और उन्हें भारतीय क्रिकेट के एक महत्वपूर्ण कप्तान के रूप में जाना जाता है।

Read also  कौन है Arshdeep Singh जिन्हे लोग कर रहे हैं ट्रोल।

Leave a Comment